Pariyon ki kahani ek choti pari ki kahani- परियों की कहानी

Pariyon ki kahani ek choti pari ki kahani

आपको यह परियों की कहानी (pariyon ki kahani) बहुत पसंद आएगी, इस परियों की कहानी (pariyon ki kahaniyan) में एक परी अपने दोस्तों से अलग हो जाती है वह बहुत दूर तक निकल जाती है जब उसे याद आता है की वह काफी दूर निकल गयी है तो उसे बहुत ज्यादा डर लगता है क्योकि वह सभी परियों से अलग हो गयी थी अब हम सभी अपनी परियों की कहानी (pari ki kahani) में आगे बढ़ते है

परियों की कहानी : Pariyon ki kahani 

pariyon ki kahani.jpg

pariyon ki kahani

यह सभी परी (pari) एक साथ ही रहती थी रानी परी (pari) ने सभी को यही बात कही थी की कोई भी परी इस जगह से दूर नहीं जायेगी अगर ऐसा हुआ तो उस परी को सजा मिल सकती है अगर यह भी नहीं होता है तो शायद बाहर का कोई इंसान उस परी (pari) को पकड़ सकता है और अपने साथ ले जा सकता है, यह बात सभी परियों को याद रखनी होगी क्योकि अगर ऐसा होता है तो कोई भी परी (pari) उस परी को नहीं बचा पाएगी यह बात सुनकर सभी परी (pari) यही बात कहती है की कोई भी बहार नहीं जाएगा

 

उन सभी परियों में एक छोटी परी (choti pari) थी वह हमेशा यही कहती थी की अगर हम यही पर रहते है तो इस दुनिया से बाहर जाकर हम कभी भी कुछ नहीं देख पाएंगे हम यही बात सोचते है की बाहर की दुनिया कैसी हो सकती है उस जगह के इंसान कैसे होंगे जैसे की रानी परी ने बताया था की वह किसी को भी पकड़ सकते है मगर वह छोटी परी इस बता को सोचती थी की वह कैसे नज़र आते होंगे में उन्हें देखना चाहती हु

 

छोटी परी (choti pari) की बात सुनकर सभी परियां यही बात कहती है की तुम्हे रानी परी की बात याद है तुम्हे इस दुनिया से बाहर नहीं जाना चाहिए क्योकि अगर यह बात रानी परी को पता चल गयी तो तुम्हे भी सजा मिल सकती है अगर ऐसा हुआ तो तुम्हे काफी तकलीफ होगी हम यह नहीं चाहते है की तुम्हे कोई भी सजा मिले अगर ऐसा भी नहीं हुआ तो कोई भी इंसान तुम्हे पकड़ सकता है शायद फिर तुम कभी भी इस दुनिया में न आ पाओ

 

तुम्हे सभी बात सोचनी चाहिए उस वक़्त तो छोटी परी चली जाती है मगर उसके मन में बहुत ख्याल आते है क्योकि जब तक वह इंसान नहीं देख पाएगी तब तक ऐसे ही चलता रहेगा उसका मन कही भी नहीं लगेगा वह सोचती हुई सो जाती है जब सुबह होती है तो वह यही बात सोचती है की अगर में किसी भी परी को यह बात नहीं कहती हु की में बाहर जा रही हु तो कोई भी नहीं जान पायेगा की में कहा गयी हु

 

कुछ देर बड़ा ही छोटी परी (choti pari) किसी को कुछ भी नहीं कहती है और वहा से चली जाती है, थोड़ी दूर चलने पर वह एक दूसरी जगह पर पहुंच जाती है, यह दुनिअय ही कुछ अलग नज़र आती है छोटी परी (choti pari) बहुत खुश हो जाती है क्योकि वह ऐसी जगह पर पहुंच गयी है जोकि उसने पहले कभी भी नहीं देखी थी, छोटी परी आसमान में उड़ती हुई दूर तक जाती है वह इंसान को देखती है मगर कोई नज़र नहीं आता है

 

उसे तो कोई भी इंसान नज़र नहीं आ रहा था छोटी परी इस बात को जानती थी की अगर वह अपने घर नहीं पहुँचती है तो रानी परी को पता चल सकता है मगर वह तो इंसान को देखकर वापिस जाना चाहती थी, छोटी परी को यही लग रहा था की मुझे और भी आगे जाना चाहिए तभी मुझे इंसान नज़र आ सकते है वह बहुत आगे तक आ गयी थी उसकी नज़र एक इंसान पर जाती है वह अपने खेत में काम कर रहा था

 

वह देखती है की यह तो हमारे जैसे ही है मगर इनके पंख नहीं है इसका मतलब यह उड़ नहीं सकते है छोटी परी उस इंसान को करीब से देखना चाहती है, इसलिए उस इंसान के नजदीक जाती है जिससे वह उसे देख न पाए छोटी परी देखती है की वह इंसान तो उनकी ही भाषा बोल रहा है छोटी परी को बहुत अच्छा लग रहा था वह इंसान की भाषा को भी समझ रही थी वह उसे देख रही थी कुछ देर बाद ही वह उठ जाता है और अपने घर की और चलता है

 

वह इंसान घर पहुंच जाता है अपनी पत्नी से कहता है की आज भी मुझे ऐसा लग रहा है की हमारी बात भगवान नहीं सुन रहे है ऐसे कब तक चलेगा हमारी परेशानी दूर नहीं हो रही है हमारी फैसला जोकि बहुत अच्छी नहीं हुई है मुझे तो ऐसा लगता है की हमारी तकलीफ दूर नहीं होने वाली है वह तो बढ़ती ही जा रही ऊपर से हमे भूखा भी रहना पड़ रहा है हमे खाने की भी समस्या होती जा रही है हमे खाना नहीं मिल रहा है

 

यह सुनकर छोटी परी उदास ही जाती है वह उनकी मदद करना चाहती है वह इंसान के घर में जाती है छोटी परी को देखकर वह इंसान कहता है की तुम तो परी हो मेने आज तक कोई भी परी नहीं देखी है तुम तो उड़ रही हो परी कहती है की में तुम्हारे सहायता करने आयी हु में तुम्हे यह बर्तन देती हु इससे तुम्हे खाना मिल जाएगा परेशान होने की जरूरत नहीं यह बात सुनकर दोनों खुश हो जाते है उन्हें लगता है की यह सब कुछ भगवान की कृपा से हुआ है उन्होंने तुम्हे भेजा है       

    

उसके बाद वह जब इंसान उस बर्तन को लेता है और जो भी मन में सोचता है उस बर्तन में वही खाना आ जाता है यह देखकर दोनों खुश हो जाते है मगर छोटी परी को वापिस जाने का रास्ता नहीं मिल रहा था वह छोटी परी कहती है की आप मुझे रास्ता बता सकते है में अपना रास्ता भूल गयी हु परी कहती है की में उस और से आयी थी वह इंसान उसकी मदद करता है जिससे वह अपने घर जा सके,

pariyon ki kahani :- 

कुछ समय बाद ही रास्ता मिल जाता है और वह परी वापिस चली जाती है आज उसे बहुत अच्छा लग रहा था वह इंसान से मिली थी उसकी मदद भी की थी और जब व घर पहुंची तो अभी शाम ही हुई थी कोई भी छोटी परी के बारे नहीं जानता था, परियों की कहानी, pariyon ki kahani ek choti pari ki kahani, अगर आपको यह कहानी (pariyon ki kahaniyan) पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे.

 

लाल परी और नीली परी की कहानी – Red and Blue Pari ki kahani

उस परी (pari ki kahani) को यही लगता था की अगर वह सभी की मदद करती है तो इससे दूसरे भी बहुत खुश हो जाते है जिन्हे मदद मिलती है वह यही सोचते है की उनकी मदद कोई नहीं कर रहा था मगर आज किसी ने उनकी मदद की है यही बात बहुत अच्छी है मगर नीली परी (pari) को ऐसा अनहि लगता था वह कहती है की तुम अच्छा सोच सकती हो मुझे पता है

 

लेकिन तुम मुझे यह बताओ की अगर तुम किसी की मदद करती हो और उस मदद में तुम्हे नुक्सान हो जाता है तो इससे तुम्हारा ही नुक्सान होगा तुम्हे ही परेशानी होगी यह बता तुम्हे पता है लाल परी यही कहती है की मुझे इससे कोई भी फर्क नहीं पड़ता है मुझे तो यही लगता है की हमे मदद करनी चाहिए अगर ऐसा होगा तो सभी लोग दुनिया में बहुत खुश होंगे मगर नीली परी (blue pari) लाल परी (red pari) से सहमत नहीं थी एक दिन दोनों परियां नदी के किनारे पर उड़ रही थी लाल परी ने ने कहा की में थोड़ा आराम करती हु

 

जब तुम लगे की हमे घर जाना तो मुझे बता देना नीली परी को अभी आसामन में उड़ना था मगर अचानक ही पता नहीं क्या हो गया की नीली परी नदी में गिरने लगी थी अब उसके पंख भीग गए थे वह उड़ नहीं पा रही थी नदी में मगरमछ घूम रहा था उसे पता चल गया की कोई नदी में गिरा है और वह उसकी और आने लगा था मगर यह सब कुछ लाल परी ने देखा और उड़कर उसके पास गयी थी और नीली परी को बचा लिया था

pariyon ki kahaniyan | pari ki kahani

इस तरह नीली परी (pari) बच गयी थी उसके बाद लाल परी ने कहा की तुम्हे पता है की हमे मदद करनी चाहिए क्योकि इससे दुसरो की मुसीबत भी दूर होती है और हमे यह भी लगता है की हमने किसी की मदद की है अब नीली परी को समझ आ गया था की मदद दुनिया में सभी की करनी चाहिए उस दिन के बाद नीली परी ने भी मदद करना शुरू कर दिया था क्योकि उसे समझ आ गया था की हमे मदद करनी चाहिए, अगर आपको यह कहानी (pariyon ki kahaniyan) पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे.

Read more kids story :-

भूखा शेर हिंदी कहानी

अकबर बीरबल की तीन कहानी

अच्छे पेड़ की पंचतंत्र हिंदी कहानी

बच्चों की अच्छी कहानी

जादुई चक्की की अच्छी कहानी

चूहे और बिल्ली नयी पुरानी की कहानी 

घर की आवाज बच्चों की कहानी

राजकुमारी और जादूगरनी की नयी कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *