Hindi stories panchatantra for best tree- अच्छे पेड़ की पंचतंत्र हिंदी कहानी

Hindi stories panchatantra for best tree

Hindi stories panchatantra for best tree : अच्छे पेड़ की पंचतंत्र हिंदी कहानी, यह कोई आम पेड़ नहीं है तुम्हे नज़र नहीं आ रहा है की यह हर जगह पर नहीं मिलता है मुझे तो ऐसा लगता है की यह पेड़ हमे कुछ दे सकता है हमे यही पर रुकना चाहिए और इस पेड़ के बारे में सोचना चाहिए, मगर हमे तो अभी जाना है और जब तक हम जायँगे नहीं तब तक जल्दी के पहुंच पायंगे यह पेड़ (tree) तो यही रहेगा हमे आगे बढ़ना है लेकिन उसका दोस्त इस बात को नहीं मान रहा था

अच्छे पेड़ की पंचतंत्र हिंदी कहानी- Hindi stories panchatantra for best tree

Hindi stories panchatantra for best tree.jpg

Hindi stories panchatantra for best tree

उसे तो वह पेड़ (tree) कही पर जाने नहीं दे रहा था, उसे तो यही लगता था की यह पेड़ (tree) हमे कुछ दे सकता है तभी कुछ लोग वही पर आते है उन्हें देखकर दोनों दोस्त छुप जाते है, क्योकि वह देखना चाहते है की यह पेड़ (tree)क्या कर सकता है वह सभी लोग पेड़ (tree) के पास आते है और रुक जाते है वह पेड़ (tree)से कहते है की आपने हमे बहुत कुछ दिया है हम जानते है की जब हम यह पर भूखे थे आपने हमे खाना दिया था आज हम इस बात को नहीं भूल सकते है

 

वह उस पेड़ में पानी देते है और कहते है की जब भी कोई भूखा होगा तो आप उसे भी खाना देंगे यह कहकर वह सभी लोग चले जाते है वह दोनों दोस्त सोचते है की यह कैसी बात है कुछ समझ नहीं आ रही है की यह पेड़ खाना देता है यह लोग क्या अकह रहे है मुझे तो कुछ भी समझ नहीं आ रहा है दूसरा दोस्त कहता है की वह इसके फल के बारे में कह रहे होंगे तुम्हे तो पता नहीं सोचने की आदत क्यों हो गयी है अब हमे चलना चाहिए यहां पर रूककर कुछ नहीं होगा उसके बड़ा दोनों दोस्त चलने वाले होते है

 

तभी कुछ आवाज आती है वह दोनों पेड़ के पीछे छुप जाते है क्योकि वह नहीं जानते है की कौन आया होगा तभी उनकी नज़र पेड़ के पीछे जाती है, इस पेड़ में रास्ता बना हुआ है यह किस जगह जाता है वह दोनों उस पेड़ के रास्ते से अंदर जाते है यह रास्ता तो हमे अंदर ले जा रहा है अंदर पहुंचने पर एक बहुत बड़ी गुफा होती है यह गुफा क्यों बनाई है और यह किस काम आती है उस गुफा में बाहर जाने का रास्ता कही नज़र नहीं आता है मगर हमे खोजना होगा

 

वह दोनों देखते है की इस पेड़ के अंदर बहुत सारा सोना रखा हुआ है यह हम ले जा सकते है वह दोनों यह बता नहीं सोचते है की यह किस जगह से आया होगा मगर वह सोने को लेने कोशिश करते है और वह पर कैद हो जाते है क्योकि उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था वह ऐसे ही सोना नहीं ले जा सकते है वह सोना लेना का फैसला उनका नहीं होना चाहिए था इस तरह वह दोनों वही पर रह जाते है वह निकल नहीं सकते है मगर क्या किया जा सकता है अब उन्हें इंतज़ार करना होगा कुछ समय बाद ही एक बाबा आते है

कहानी का मोरल : Hindi stories panchatantra 

वह बाबा उन्हें देखते है और कहते है की तुम कौन हो और यहां पर क्या कर रहे हो, वह दोनों उन्हें बात बताते है इस तरह बाबा कहते है की तुम्हे पता होना चाहिए की ऐसा कोई भी काम नहीं करना चाहिए जिसका परिणाम तुम्हे ऐसे भुगतना पड़े यह सोना तुम्हारा नहीं है यह पेड़ (tree) का है जिसे तुम लेना चाहते थे जो चीज तुम्हारी नहीं है वह तुम नहीं ले सकते हो इस तरह वह दोनों दोस्त बाबा की वजह से बच जाते है और घर चले जाते है, Hindi stories panchatantra for best tree, अच्छे पेड़ की पंचतंत्र हिंदी कहानी, अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे   

 

पेड़ की दूसरी पंचतंत्र कहानी : Hindi stories panchatantra 

मुझे ऐसा लगता है की यह पेड़ (tree) बहुत पुराना है क्योकि इस पेड़ को देखकर ऐसा ही लग रहा है दूसरा कहता है की तुम सही कह रहे हो यह पेड़ बहुत पुराना है और इसे तो यहां पर नहीं होना चाहिए क्योकि इस पेड़ को अब कोई नहीं रखना चाहेगा यह तो मुझे किसी काम का नहीं लगता है दोनों इस तरह की बाते कर रहे थे

 

तभी वह देखते है की पेड़ (tree) अपनी शाखा को नीचे ला रहा है, मुझे यह नहीं लगता है की यह पेड़ अपनी शाखा को कही भी घुमा सकता है इससे पहले यह अपर कुछ अजीब हो जाये यहां से भागना चाहिए मगर जैसे ही वह भागने को हुए तो वह भगा नहीं सके थे क्योकि उस पेड़ ने उन्हें पकड़ लिया था वह दोनों इस दोनों इस बात को कह रहे थे की हमे छोड़ दो हमने कुछ नहीं किया है वह पेड़ कहता है की तुमने तो मेरे बारे में कुछ बाते कही है

 

वह बाते सुनकर में यही सोच रहा हु की तुम मेरे बारे में और क्या सोचते हो क्योकि तुम्हे तो यही लग रहा है की मुझे तो काट देना चाहिए क्योकि अब में किसी काम का नहीं हु वह दोनों पेड़ की आवाज सुन रहे थे और यह भी सोच रहे थे की यह पेड़ बाते कैसे कर सकता है यह पेड़ (tree) बोल रहा है तभी वह पेड़ कहता है की मुझे तुमसे कोई मतलब नहीं है क्योकि तुम जो सोचते हो वही कह रहे हो मगर एक बात तुम्हे यह भी सोचनी चाहिए की जब तुम एक दिन बूढ़े हो जाओगे तो तुम्हे यह बात याद आयेगी जो में कह रहा हु,

कहानी का मोरल : Hindi stories panchatantra 

उसके बाद वह पेड़ (tree) उन्हें छोड़ देता है, क्योकि वह जानता है की पूरी दुनिया यही सोचती है की जब कोई बूढ़ा हो जाता है तो उसकी जरूरत किसी को नहीं होती है मगर एक दिन वह सभी के काम आया था यह बात सभी भूल जाते है, पेड़ की दूसरी पंचतंत्र कहानी, Hindi stories panchatantra, अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे

Read More story in hindi :-

परियों की कहानी

भूखा शेर हिंदी कहानी

दो खरगोश और शेर की कहानी

अकबर बीरबल की तीन कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *