Hathi aur sher ki kahani | शेर, हाथी, चालाक खरगोश और सियार की मजेदार कहानी

Hathi aur sher ki kahani

Hathi aur sher ki kahani, chalak khargosh aur sher ki kahani, sher aur siyar ki kahani, हाथी इस बात को जान गया था, की अगर यह शेर इस जंगल में रहता है तो मुझे बहुत अधिक परेशानी हो सकती है because शेर किसी को भी आसानी से नहीं रहने देता है इसलिए hathi ने सभी को बुलाया और कहा की हमे sher से जल्दी ही छुटकारा चाहिए यह हमारे लिए परेशानी पैदा कर रहा है अगर हमे यहां पर रहना है तो आराम से रहना होगा, but यह हठी हमे यहां पर नहीं रहने देगा,

Hathi aur sher ki kahani : शेर, हाथी, चालाक खरगोश और सियार की मजेदार कहानी 

Hathi aur sher ki kahani

Hathi aur sher ki kahani

सभी जानवर सहमत थे because यह शेर मुश्किल तो पैदा कर देगा, but इसे भगाने का कोई रास्ता तो सोचना ही होगा, सभी ने मिलकर एक योजना बनाई थी, इस योजना में यह था, की हमे sher को पहाड़ी पर लाना होगा उसके बाद हमे उसे नीचे गिरा देना है, उसके बाद यह sher हमारा कुछ नहीं कर पायेगा, यह बात समझ आ गयी थी अब शेर को पहाड़ी पर कौन लाएगा, यह काम घोड़े को करना है वह उस शेर से बात करेगा

 

घोड़ा sher के पास जाता है और कहता है की आपके लिए बहुत बढ़िया शिकार मिल गया है अगर आप उसे लेते है तो आपको बहुत अच्छा लेगेगा शेर कहता है की वह शिकार किस जगह पर है घोड़ा कहता है की यह शिकार khargosh है वह उस पहाड़ी पर है और कोई भी उसके पास नहीं है यह सुनकर sher बहुत खुश होता है वह घोड़े के साथ जाता है कुछ देर बाद शेर कहता है की यह पर कोई भी नज़र नहीं आ रहा है उसके बाद सभी जानवर वही पर आते है और sher को पहाड़ी से नीचे गिरा दिया जाता है,

नानी माँ की कहानियां

अब कोई भी समस्या नही थी, सभी जानवर बहुत अच्छे से उस जंगल में रह रहे थे, उनकी समस्या अब दूर हो गयी थी यह सब कुछ उन्होंने मिलकर किया था, इसलिए ऐसा हो गया था, जब हम मिल कर किसी भी समस्या का सामना करते है तो वह दूर हो जाती है अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे     

 

chalak khargosh aur sher ki kahani : चालाक खरगोश और शेर की कहानी  

chalak khargosh यह बात जानता था की वह शेर उसका शिकार कर सकता है उसे शेर से बचाकर रहना होगा, इसलिए वह योजना बना रहा था chalak khargosh ऐसी योजना बनाना चाहता था जिससे वह उस शेर से बचकर रह पाये, क्योकि वह जानता था की शेर ने उससे वह बात कही थी जब वह उस दिन sher से बचकर भाग रहा था, शेर ने कहा था की जब भी वह तुम्हे देख लेगा तुम्हारा शिकार करेगा यह बात वह जानता था इसलिए sher से बचना जरुरी है

 

but वह chalak khargosh अभी कोई भी योजना बना नहीं पा रहा था क्योकि उसे कुछ भी समझ नहीं आ रहा था, वह क्या करे और किस तरह की योजना पर काम करे तभी उसके सामने sher  आ गया था वह जानता था की अब sher से बचना बहुत मुश्किल है शेर कहता है की अब तुम किस तरह बच सकते ही चालाक खरगोश कहता है की तुम मुझे नहीं पकड़ सकते हो because में तो बिल में चला जाऊंगा यह बात सुनकर शेर बिल की और देखता है तब तक वह चालाक खरगोश बिल में चला जाता है

लोमड़ी और शेर की नई कहानी

इस तरह वह chalak khargosh बच जाता है but sher कहता है की अभी तो तुम बच गए हो but कुछ दिन बाद में तुम्हारा शिकार कर पाऊंगा, यह सुनकर चालाक खरगोश सोचता है की मुझे जल्दी ही कुछ सोचना होगा, because यह शेर मेरा पीछा नहीं छोड़ने वाला है कुछ दिन बाद वह चालाक खरगोश sher के सामने आता है और sher कहता है की आज तो तुम्हे ऐसा लग रहा है की तुम मुझसे मुकाबला करना चाहते हो वह chalak khargosh कहता है की ठीक तुम मुझे पकड़कर दिखाओ, वह शेर पीछे भागता है

परियों की कहानी

chalak khargosh एक दलदल के पास जाता है और sher भागता हुआ आता है, और उस दलदल में गिर जाता है अब उसका बचना बहुत मुश्किल था, अब वह कुछ नहीं कर सकता था, अब वह परेशान होगा था चालाक खरगोश कामयाब हो गया था, अब वह sher उसकी मुश्किल नहीं था इस तरह वह शेर से बच गया था

 

sher aur siyar ki kahani : शेर और सियार की कहानी 

सियार शेर से दोस्ती करना चाहता था but यह आसान नहीं था वह शेर के पास जाता है और कहता है की मुझे आपसे दोस्ती करनी है sher कहता है की तुम मेरे लिए क्या कर सकते हो, वह siyar कहता है की में आपके लिए भोजन की व्यवस्था कर सकता हु में आपके लिए बहुत सारे काम आ सकता हु, अगर आप चाहते तो में आपका दोस्त बन सकता हु, sher को लगता है की अगर यह मेरे काम आ सकता है तो ठीक है but शेर siyar की चाल को नहीं समझ रहा था

भूखा शेर हिंदी कहानी

siyar को बहुत अच्छा लगता है because अब वह शेर का दोस्त बन गया था सभी जानवर siyar से डरने लगते है वह sher के लिए भोजन भी लाता है siyar कहता है की आप इस गुफा में आराम से रहते है इसमें ठंड भी नहीं लगती है sher कहता है की तुम सही समझ रहे हो यह गुफा बहुत अच्छी है यहां पर मुझे बहुत आराम है यह मेरे लिए सर्दियों में बचा पाती है, यह शेर के लिए गुफा बहुत अच्छी है यह बात siyar जानता था, कुछ समय तक शेर की सेवा की थी,

Hathi aur sher ki kahani | chalak khargosh aur sher ki kahani | sher aur siyar ki kahani

उसके बाद siyar बहुत सरे दोस्तों को लेकर आता है और कहता है की इस sher को बाहर निकालो अब से यह गुफा मेरी है अब हम इस गुफा में आराम से रह पायंगे शेर अब siyar को समझ गया था because उसने दोस्ती करके मेरे लिए समस्या बन सकती है अब कुछ नहीं हो सकता था वह शेर उस गुफा से दूर हो गया था शेर समझ गया था की उसने दोस्ती करके अपनी गुफा को दूर कर दिया है वह siyar बहुत तेज निकला था, अगर आपको यह शेर, हाथी, चालाक खरगोश और सियार की मजेदार कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे.

Read More story in hindi :-

अकबर और बीरबल की तीन नयी कहानी

दो खरगोश और शेर की कहानी

अकबर बीरबल की तीन कहानी

अच्छे पेड़ की पंचतंत्र हिंदी कहानी

बच्चों की अच्छी कहानी

जादुई चक्की की अच्छी कहानी

चूहे और बिल्ली नयी पुरानी की कहानी 

घर की आवाज बच्चों की कहानी

राजकुमारी और जादूगरनी की नयी कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *