अपनी हिम्मत की हिंदी स्टोरीज, apani himmat ki hindi stories book

Apani himmat ki hindi stories book | Hindi Stories 

अपनी हिम्मत की हिंदी स्टोरीज : (apani himmat ki hindi stories book) बहुत समय पहले की बात है जब मुझे यह किताब पढ़ने के लिए मिली थी उसमे एक कहानी (hindi stories) जोकि मुझे बहुत पसंद आयी थी आपके सामने लेकर आया हु यह कहानी (hindi stories) उस आदमी की जिसने बहुत problem से अपने साथियो को बचाया था जबकि यह आसान काम नहीं था मगर उसने इस बात की कोई भी effect नहीं की थी उसे तो यही लगता था की मेरे साथी अगर मेरे साथ में है तो बहुत अच्छा है वह उनके पास में था यह जब शुरू हुआ था जब तीनो एक टापू पर फंस जाते है यह टापू ऐसी place पर था जिस जगह पर कुछ नहीं था,

 

अपनी हिम्मत की हिंदी स्टोरीज : apani himmat ki hindi stories book

hindi stories.jpg

apani himmat ki hindi stories book

यह place देखने में शांत नज़र आ रही थी पीने को पानी नहीं था समुन्दर का पानी जोकि पीने योग्य नहीं था प्यास बहुत अधिक लग रही थी तभी उनमे से एक ने coconut का पानी सभी को दिया था वह सभी के लिए पानी लेकर आया था क्योकि coconut का पानी ही अब पानी की जरूरत पूरा कर सकता था, वह तीनो वही पानी पी रहे थे, अब उन्हें इस जगह से निकलना था लेकिन उनमे से दो अब हार मान चुके थे उन्हें कुछ भी समझ नहीं आ रहा था क्योकि यहां से निकलना बहुत जरुरी थी

hindi stories book :-

मगर कोई रास्ता नज़र भी तो नहीं आ रहा था यह टापू जोकि पहले आया पर कोई नहीं आया होगा, हम ऐसी जगह पर आ गए है, इसलिए हमे नहीं लगता है की यह place अच्छी हो सकती है हम देख रहे है यहां पर खाने को कुछ भी नहीं है जिस नाव में हम यहां पर आये थे वह भी अब टूट चुकी है हमारे पास कोई resources नहीं है, हम यह ऐसे नहीं जा सकते है वह दोनों आदमी परेशान हो जाते है क्योकि वह इस place से बाहर नहीं जा सकते है

 

उन्हें ऐसा लग रहा है की उनकी हिम्मत (himmat) पूरी तरह से टूट गयी है, अब कुछ नहीं होने वाला है, मगर उनमे से एक आदमी कहता है की हमे हिम्मत (himmat) से काम लेना चाहिए क्योकि हमे यहां से बाहर निकलना ही होगा क्योकि हम यहां पर नहीं रह सकते है हमे कुछ सोचना (think) ही होगा क्योकि यहां पर हम अपनी life को नहीं बीता सकते है कोई भी बात कही जा रही हो मगर वह दोनों पूरी तरह से थक चुके थे क्योकि आज उनकी उम्मीद टूट गयी थी उनमे से एक ही आदमी था जोकि अपनी पूरी कोशिश कर रहा था

 

उसने अपनी हिम्मत (himmat) से एक नाव भी बना ली थी जिससे वह सभी बाहर जा सकते थे वह नाव उनके लिए बहुत जरुरी थी क्योकि वह उनका सफर पूरा कर सकती थी वह सभी उस नाव में बैठ जाते है मगर यह सफर आसान नहीं था वह तो कोई किनारा भी नहीं जानते थे जो उन्हें पार लगा सकता था मगर वह सभी उस नाव से बाहर निकलने में अपनी सोच लगा रहे थे कुछ भी नहीं था मगर उनके पास हिम्मत थी जिसका प्रयोग कर रहे थे यह प्रयोग ही उनके काम आ सकता था.

कहानी का मोरल :-

कुछ दिन नाव में बैठे हुए एक किनारा पर पहुंच जाते थे उनकी हालत अब अच्छी नहीं थी मगर वह क्या कर सकते है यह बात वह जानते थे क्योकि वह बहुत मुश्किल से उस जगह से निकले थे वह कोशिश अगर न करता तो वह सभी बाहर नहीं आते हम जब तक अपनी हिम्मत नहीं हारते है तो हम बाहर निकल सकते है हमे अपनी पूरी कोशिश करते हुए आगे बढ़ना चाहिए तभी हम जीवन में सब कुछ कर सकते है, अपनी हिम्मत की हिंदी स्टोरीज, (apani himmat ki hindi stories book) यह कहानी आपको कैसी लगी है हमे जरूर बताये और इस कहानी (hindi stories) को शेयर भी करे.

Read more hindi stories :- 

दोस्ती की एक नयी कहानी

कामयाबी के रास्ते हिंदी मॉरल कहानी

एक धार्मिक कहानी

नया गांव मोरल कहानी

एक सच्ची दोस्ती क्या होती है

नई दुनिया की हिंदी कहानी

गरीब कौन मोरल कहानी

छोटी मोरल कहानी

एक अच्छे लड़के की कहानी

पहली मुलाक़ात स्टोरीज इन हिंदी

गोल्डन पेड़ की हिंदी कहानी

आलसी लड़के की हिंदी कहानी

एक पुराने घर की कहानी

मेरा सपना नई हिंदी कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *